Mahobbat Sad Hindi Shayari


Meri Mahobbat Aur Uski Nafrat

Ye Meri Mahobbat Aur Uski Nafrat Ka Mamla Hai,
Ai Mere Naseeb Tu Beech Mein Dakhal-Andaji Mat Kar.

ये मेरी महोब्बत और उसकी नफरत का मामला है,
ऐ मेरे नसीब तू बीच में दखल-अंदाज़ी मत कर।

Na Jane Kis Baat Pe Wo Naraj Hain Hamse,
Khwabon Me Bhi Milta Hoon To Baat Nahi Karti.

ना जाने किस बात पे वो नाराज हैं हमसे,
ख्वाबों मे भी मिलता हूँ तो बात नही करती।

Jo Kaha Karte The Kabhi Tumhe Na Bhool Payenge,
Mile Jo Kal To Bole... Lagta Hai Kah Dekha Hai.
 
जो कहा करते थे कभी तुम्हे ना भूल पायेंगे,
मिले जो कल तो बोले लगता है कही देखा है।

Mahobbat Sad Hindi Shayari


Mahobbat Sad Hindi Shayari
Sochta Raha Ye Raatbhar Karavat Badal Badal Kar,
Jane Wo Kyu Badal Gaya, Mujhko Itna Badalkar.

सोचता रहा ये रातभर करवट बदल बदल कर,
जानें वो क्यों बदल गया, मुझको इतना बदल कर।

Bahut Dar Lagta Hai Un Logo Se Jo...
Bato Mein Mithas Aur Dilo Mein Jahar Rakhte Hain.

बहुत डर लगता हैं उन लोगो से जो...
बातो में मिठास और दिलो में जहर रखते हैं।

Wo Aaj Phir Se Mile Ajnabi Bankar,
Aur Hamen Aaj Phir Se Mohabbat Ho Gayi.

वो आज फिर से मिले अजनबी बनकर,
और हमें आज फिर से मोहब्बत हो गई।

Mahobbat Sad Hindi Shayari


Mahobbat Sad Hindi Shayari
Dhokha Dene Ka Shukriya Ai-Mere Bichhde Huye Hamsafar,
Warna Zindagi Ka Matlab Hi Nahi Samajh Mein Aata.

धोखा देने का शुक्रिया ऐ-मेरे बिछड़े हुए हमससफर,
वरना ज़िन्दगी का मतलब ही नही समझ में आता।

Beshak Tere Phone Ki Koi Ummeed To Nahin Lekin,
Pata Nahin Kya Sochkar, Main Aaj Bhi Number Nahin Badalta.

बेशक तेरे फ़ोन की कोई उम्मीद तो नहीं लेकिन,
पता नहीं क्या सोचकर, मैं आज भी नंबर नहीं बदलता।

Suna Hai Wo Mujhe Bhool Chuki Hai,
Aur To Kuchh Nahin Bas, Usaki Himmat Ki Daad Deta Hoon.

सुना है वो मुझे भुल चुकी है,
और तो कुछ नहीं बस, उसकी हिंम्मत की दाद देता हूँ।

Mahobbat Sad Hindi Shayari
Meri Shayari Ko Log Itni Siddat Se Padhte Hain,
Jaise In Sabne Bhi Kisi Ajnabi Se Mohabbat Ki Ho.

मेरी शायरी को लोग इतनी सिद्दत से पढते हैं,
जैसे इन सबने भी किसी अजनबी से मोहब्बत की हो।